White Hair Problems: इन कारणों से कम उम्र में ही बाल होने लगते है सफेद, पढ़े डिटेल्स और जल्द करवा लें ट्रीटमेंट

White Hair Problems: उम्र के बढ़ने के साथ ही बालों का सफेद होना एक आम बात है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, वैसे ही बाल भी सफेद (White Hair Problems) होने लग जाते हैं। लेकिन आज के समय मे कम उम्र में भी लोगो को बाल सफेद होने की समस्या आ रही है। ये समस्या अब आम होती जा रही है। कम उम्र में बाल सफेद होने के कई कारण हो सकते हैं। आप इस समस्या को अपने जीवन मे कुछ साधारण बदलाव करके ठीक कर सकते हैं। आइए जानते हैं आखिर ये समस्या लोगो को क्यों आ रही है और इसे रोकने के क्या उपाय किए जा सकते हैं?

बालों का रंग काले से सफेद (White Hair Problems) होने का मुख्य कारण पिग्मेंटेशन कम होना है। कम पिग्मेंटेशन होने से बाल काले से सफेद रंग में बदलने लगते हैं। छोटी उम्र में बालों का रंग सफेद होने के प्रमुख कारण ये हो सकते हैं:-

जेनेटिक्स हो सकता है एक कारण

छोटी उम्र में काले बालों के सफेद (White Hair Problems)  होने का एक कारण जेनेटिक्स भी हो सकता है। इस प्रॉब्लम का कोई परमानेंट इलाज उपलब्ध नही है क्योंकि ये प्रॉब्लम आपके जीन्स से जुड़ा होता है। ये प्रॉब्लम पुस्त दर पुस्त चलता रहता है। मान लीजिए आपके माता-पिता या फिर परिवार में किसी को यह परेशानी बचपन से है, तो आप भी कम उम्र में इस समस्या से ग्रषित हो सकते हैं।

टेंशन भी है एक महत्वपूर्ण कारण

White Hair Problems

ज्यादा चिंता करने या जरूरत से ज्यादा टेंशन लेने से कम उम्र में बाल के सफेद होने की समस्या होने लग जाती है। ज्यादा चिंता करने से नींद में कमी, भूख नही लगना, ब्लड प्रेशर हाइ हो जाना जैसी समस्याएं पैदा हो जाती हैं और ये आपके शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव डालती हैं। एक रिसर्च से पता चलता है कि ज्यादा तनाव होने से बालों की जड़ों में मौजूद स्टेम सेल्स कमजोर होने लग जाती हैं।

ऑटोइम्यून डिजीज

White Hair Problems

ऑटोइम्यून डिजीज से भी कम उम्र में बाल सफेद होने लग जाते हैं। ऑटोइम्यून डिजीज में मुख्यतः एलोपेसिया या विटिलिगो होने से बाल सफेद होने लगते हैं। इस बीमारी के होने से इम्यून सिस्टम अपनी खुद की सेल्स को नुकसान पहुंचाने लगती है और प्रीमैच्योर व्हाइट हेयर (White Hair Problems) होने की संभावना बढ़ जाती है।

विटामिन बी-12 की शरीर मे कमी

White Hair Problems

शरीर मे विटामिन की कमी होने से भी कई प्रकार की बीमारी हो सकती है जिसमे एक कम उम्र में सफेद बाल होना भी है। मुख्यतौर पर विटामिन बी-12 की शरीर मे कमी होने से बाल सफेद होने लगते हैं।। विटामिन बी-12 की बात करे तो ये विटामिन एनर्जी देने, हेयर ग्रोथ और बालों के रंग को कंट्रोल करता है।

धूम्रपान भी है प्रमुख कारण

White Hair Problems

रिसर्च से पता चला है कि धूम्रपान करने से नसें सिकुड़ जाती हैं और उनमें से होने वाला ब्लड फ्लो कम हो जाता है जिससे भी बाल उम्र में ही सफेद (White Hair Problems) होने लग जाते हैं। ब्लड का कम फ्लो होने से बालों की जड़ों को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिल पाता है और उनका रंग सफेद होने लग जाता है।

सफेद बालों को काले करने का तरीका

White Hair Problems

बाल के कम उम्र में सफेद (White Hair Problems) हो रहे है तो उसे काले करने का जल्द उपाय करना चाहिए क्योंकि बाल को सफेद होने के ज्यादतर कारक को ठीक किया जा सकता है। आप डॉक्टर के पास जाकर इसका सही इलाज करवा सकते है, उनके सही इलाज से बालों का पिगमेंट्स वापस आ जायेगा और वो काले हो जाएंगे। अगर इलाज में आपको विटामिन B 12 की कमी आती है तो आप इसका सप्लीमेंट्स ले सकते है। अगर आपको यह समस्या है तो आपको शराब और धूम्रपान को छोड़ना होगा।

 

Leave a Comment