Stationary Business में है लाखों का फायदा, जानें कैसे करते है इसे शुरू

Stationary Business: स्टेशनरी का बिजनेस एक सफल बिजनेस माना जाता है। इसका सीधा जुड़ाव शिक्षा से है और आज के लोग शिक्षा के प्रति बहुत जागरूक हो गए हैं। इससे इस बिजनेस में सफलता निश्चित हो जाती है। पढ़ने वाले बच्चों के साथ ही कॉलेज, स्कूल, यूनिवर्सिटी और कंपनी के कार्यालय में भी स्टेशनरी की भारी डिमांड है। ऐसे में स्टेशनरी का बिजनेस एक सफल बिजनेस बन जाता है। हम अपनी इस रिपोर्ट में आपको स्टेशनरी का बिजनेस शुरू करने को लेकर पूरी जानकारी देंगे। सबसे पहले स्टेशनरी की दुकान के बारे में जान लीजिए।

स्टेशनरी के दुकान की जानकारी

स्टेशनरी की दुकान में पढ़ाई-लिखाई के दौरान उपयोग की जाने वाली वस्तुओं की बिक्री की जाती है। इन वस्तुओं में पेन (Pen), पेंसिल (Pencil), पेपर (Paper), नोटपैड (Notepad), किताबें (Books), कॉपी (Copy) आदि शामिल हैं। इस बिजनेस की शुरुआत छात्रों की जरूरत को ध्यान में रखकर किया जाए तो सफलता जल्द से जल्द हो सकती है। इस बिजनेस की शुरुआत करने में ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की भी जरूरत नहीं परती है। इसे कम निवेश के साथ भी शुरू किया जा सकता है और सफलता प्राप्त की जा सकती है।

इस बिजनेस की शुरूआती ही क्यों करनी चाहिए

स्टेशनरी की दुकान खोलना एक सफल बिजनेस साबित हो सकती है। इस दुकान में मिलने वाली वस्तुओं की डिमांड सबसे अधिक होती है। आपको बता दें कि स्टेशनरी की वस्तुओं का उपयोग सबसे अधिक कॉलेज, दफ्तरों एवं स्कूल में किया जाता है और इन संस्थाओं में इसका उपयोग कभी बंद नहीं होगा। वहीं जैसे-जैसे इन संस्थाओं की संख्या बढ़ती जाएगी वैसे ही स्टेशनरी की वस्तुओं की मांग में इजाफा होगा। लोग समय के साथ शिक्षा के प्रति बहुत जागरूक हो रहे हैं। ऐसे में इस बिजनेस को शुरू करना एक फायदे का सौदा शाबित हो सकता है।

Stationary Business के लिए सही जगह का चुनाव है बहुत जरूरी

Stationary Business

स्टेशनरी के बिजनेस को सफल बनाने के लिए सबसे प्रमुख है इसकी शुरुआत सही जगह पर की जाए। इसके लिए सबसे उपयुक्त जगह कॉलेज (College), स्कूल (School), इंस्टीट्यूट (Institute), कोचिंग (Coaching) या फिर कोई कार्यालय (Office) के आसपास हो सकता है। इन जगहों पर छात्रों के साथ ही उन लोगों को आवाजाही अधिक होती है जो स्टेशनरी की दुकानों पर मिलने वाली वस्तुओं का उपयोग अधिक करते हैं। ऐसे में इन जगहों पर इस बिजनेस की शुरुआत करने से इसके सफल होने की संभावना बढ़ जाती है।

इन वस्तुओं का स्टेशनरी की दुकान में होना है आवश्यक

स्टेशनरी की दुकान में प्रमुख रूप से नोटबुक (Notebook), स्टेपलर (Stapler), कैलकुलेटर (Calculator), पेंसिल (Pencil), पेन (Pen) के साथ ही पढ़ाई और लिखाई से जुड़ी वस्तुओं को रखना आवश्यक है। इसके साथ ही बिजनेस को बढ़ाने के लिए इस दुकान में ग्रीटिंग कार्ड, शादी का कार्ड, गिफ्ट कार्ड जैसे वस्तुओं को भी रखा जा सकता है।

बिजनेस शुरू करने से पहले लाइसेन्स की परती है जरूरत

स्टेशनरी के बिजनेस को शुरू करने के लिए लाइसेन्स की जरूरत परती है और इसके लिए अपने दुकान का पंजीकरण ‘शॉप एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट’ के तहत करवाना होता है। इसके लिए पैन कार्ड की जरूरत पड़ती है। सरकार ने पंजीकरण के नियमों में कुछ बदलाव किए हैं जिसके अनुसार अब आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ सकती है। वहीं बैंक संबंधी दस्तावेजों की जरूरत भी इसके लिए होती है।

बहुत ही कम निवेश में कर सकते हैं इस बिजनेस की शुरुआत

स्टेशनरी के बिजनेस को शुरू करने के ज्यादा निवेश की जरूरत नहीं परती है। आप इस बिजनेस की शुरुआत मात्र 50 हजार रुपये से भी कर सकते हैं। वहीं बड़े स्तर पर शुरुआत करने के लिए आप एक लाख तक का निवेश भी कर सकते हैं। इस बिजनेस की शुरुआत अपने बजट के हिसाब से की जा सकती है। इसमें बहुत मुनाफा होता है।

कम कीमत पर स्टेशनरी के सामान की खरीदारी पेन, पेंसिल और कॉपियां बनाने वाली कंपनियों से सीधे डील करके खरीद सकते हैं। वहीं इसके लिए होलसेल विक्रेता से भी संपर्क किया जा सकता है। इन जगहों पर आपको बहुत ही कम कीमत पर स्टेशनरी के सामान उप्लब्ध हो जाएंगे। और फिर इन्हें उचित मूल्य पर बेच कर आप अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

Leave a Comment