Corn Flour: जाने कॉर्न फ्लोर के फायदे और मक्के के आटे और इसमें क्या है अंतर?

Corn Flour का इस्तमाल क्रिस्पी फ़ूड बनाने में खूब किया जाता है। खाने के शौकीन लोगो को यह बहुत पसंद आता है। आपको हम जानकारी के लिए बता दे कि कॉर्नफ्लोर (Corn Flour) और मक्के के आटे में कुछ अंतर होता है। आज हम आपको कॉर्नफ्लोर (Corn Flour) से जुड़ी कुछ रोचक बातों की जानकारी देंगे।

कॉर्न फ्लोर (Corn Flour) को कॉर्न स्टार्च के नाम से भी कई स्थानों पर जाना जाता है। वहीं मक्के के आटे को Corn meal flour या maize flour के रूप में पहचाना जाता है। कॉर्न फ्लोर का उपयोग मुख्यतौर पर क्रिस्पी रेसिपी जैसे कि टिक्की, क्रिस्पी चिकन फ्राई या फिर पतली ग्रेवी को गाढ़ा करने में किया जाता है। कॉर्नफ्लोर का इस्तमाल चाइनीज रेसिपीज बनाने में मुख्य रूप से किया जाता है। वहीं इसका उपयोग मिठाइ जैसे गुलाब जामुन, रसगुल्ला बनाने के लिए भी कई स्थानों पर किया जाता है।

सफेद कॉर्न फ्लोर (White Corn Flour)

मान लो हम अगर दुकान पर सामान लेने गए हों तो बहुत बार कुछ ऐसा हो जाता है कि लोग मक्के के आटे को सफेद कॉर्न फ्लोर समझकर खरीद लेते हैं। इसी कारण बहुत सारे लोग सोच विचार में पड़ जाते हैं कि सफेद  Corn Flour आखिर क्या होता है। इसलिए मैं आपको बता दूँ कि मक्की के आटे और कॉर्न फ्लोर (CornFlour) में थोड़ा बहुत अंतर जरूर होता है। मक्के के आटे को कॉर्नमील फ्लोर (CornMeal Flour) कहा जाता है और दूसरी तरफ कॉर्नफ्लोर की बात करो ज तो उसे मक्के का स्टार्च कहते हैं।

जिस कारण से इसे कॉर्न स्टार्च (Corn Starch) भी बोला जाता है। जब भी कॉर्न फ्लोर बनाते है तो मक्की के दाने से ऊपर का छिलका हटा दिया जाता है, उसके बाद पाउडर की तरह पीसा जाता है और उसके बाद आटा तैयार किया जाता है जिसे कॉर्न फ्लोर (CornFlour) का नाम दिया जाता हैं। इसके रंग की बात करे तो यह पीले या फिर सफेद रंग का होता है जैसा कि मैन आपको बताया कि White Corn Flour Meaning In hindi क्या कहा जाता है। यह आटा काफी ज्यादा दरदरा और बारीक सा होता है।

यह भी पढ़े :-Mango Types And Benefits: आम के प्रकार और स्वास्थ्य से जुड़े इसके सभी फायदे, यहाँ पढ़े आम से जुड़ी सभी जानकारी

मक्के के आटे और Corn Flour है अलग?

फिर बात करें मक्के के आटे की तो इसको जो भी छिलका होता है उसे उसके समेत ही पीस दिया जाता है। उसके साथ ही इसका रंग पीला जैसा होता है।परन्तु अगर बात किया जाए कॉर्नफ्लोर (CornFlour) की तो उसका छिलका निकाल कर ही उसे बनाया जाता है जिस कारण उसका रंग सफेद जैसा होता है या फिर हल्का सा पीला हो जाता है। उसके साथ-साथ यह लगभग मैदा की तरह बारीक हो जाता है और उंगलियों पर चिकना सा महसूस होने लगता है। इसलिए यह समझना बहुत जरुरी होगा कि कॉर्नफ्लोर (CornFlour) और मक्के के आटे में किस बात का अंतर होता है। ईसके बाद आप शायद समझ गए होंगे कि कॉर्नफ्लोर किसे कहते है।

Corn Flour को बनाने का तरीका (Process to Make Corn Flour)

Corn Flour

मान लो अगर आप कॉर्नफ्लोर (CornFlour) घर पर ही बनाना चाहते है तो हम आज आपको पूरी विधि से बताएंगे कि कॉर्न फ्लोर किस तरह से बनाया जा सकता है। तो चलिए पता करते हैं कि इसको आखिर कैसे बनाते हैं।

कॉर्न फ्लोर (CornFlour) को बनाने के लिए हमे सबसे पहले मक्के को बाल्टी या किसी भी बर्तन में पानी से दो-तीन बार धो लेना है। इस प्रक्रिया के बाद मक्के को एक किसी बर्तन में पानी से भिगोकर पूरी एक रात रख दें। उसे अगले ही दिन मक्का पूरी तरह फूल जाएगा। उसके बाद मिक्सर में मक्के को डालकर उस मक्के को थोड़ा सा पानी लेकर पूरी तरह पीस दें। ऐसा करने के बाद पतला सा मिश्रण तैयार हो जाएगा।जो भी इसके बाद मिश्रण बना उसे एक कपड़े से छान लें।

उसके बाद जब उस मिश्रण को अच्छे से छान लेंगे तो छाने हुए मिश्रण को पूरी तरह अलग कर दें और ऊपर वाले को अलग करना जरूरी है। और जो कपड़े में से छाना है उसे कटोरे में ऐसी शांत जगह रखें जहां पर वह कटोरा थोड़ा भी हिल ना पाए। उस कटोरे को कुछ घंटे तक ऐसे ही रहने दे जिसके बाद मालूम होगा कि एक गाढ़ा पेस्ट बन गया है।फिर कटोरे में ऊपर पानी नजर आ रहा होगा, उस पानी को आप अच्छी तरह से निकाल दें।

इसके प्रक्रिया के तुरंत बाद गाढ़े मिश्रण को धूप में सुखा दें। फिर जब धूप में अच्छे से सूख जाए फिर उसके तुरन्त बाद मिक्सर में अच्छे से उसे पीस दें, जिससे ये होगा कि एक बारीक पाउडर बन जाएगा। फिर उस पाउडर को एक छलनी से अच्छे तरीके से छानना होगा। फिर इसके बाद एक सूखे डिब्बे में भरकर साफ जगह रख दें। और लीजिए आपका कॉर्नफ्लोर (CornFlour) बनकर तैयार हो गया है और अब इसे अपने खाने की रेसिपी में उपयोग कर सकते हैं।

पोषक तत्व से भरपूर Corn Flour

आमतौर पर बहुत सारे लोग कॉर्न फ्लोर का उपयोग खाने में बेहतर स्वाद देने के लिए प्रयोग करते हैं। परन्तु बहुत कम लोग होते हैं जो यह जानने की प्रयत्न करते हैं कि जो चीज हम उपयोग कर रहे हैं उसमें कोई पोषक तत्व की मौजूदगी हैं भी अथवा नहीं। तो अगर आपको जानना कि इच्छा है कि कॉर्नफ्लोर में कौन से पोषक तत्व की मौजूदगी रहती हैं तो आइए हम आपको बताते हैं इनके बारे में विस्तार से बात करते हैं-

जो कॉर्नफ्लोर स्मूथ तथा सफेद सा होता है उसमें विटामिन ए, विटामिन बी, फाइबर, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जिंक, प्रोटीन, विटामिन ई, कार्बोहाइड्रेट और बहुत सारे पोषक तत्व की मौजूदगी रहती हैं। यह सारे जो भी पोषक तत्व होते हैं वो हमारे शरीर को स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अहम योगदान निभाते हैं।

आमतौर पर बहुत सारे लोग कॉर्न फ्लोर का उपयोग खाने में बेहतर स्वाद देने के लिए प्रयोग करते हैं। परन्तु बहुत कम लोग होते हैं जो यह जानने की प्रयत्न करते हैं कि जो चीज हम उपयोग कर रहे हैं उसमें कोई पोषक तत्व की मौजूदगी हैं भी अथवा नहीं। तो अगर आपको जानना कि इच्छा है कि कॉर्नफ्लोर में कौन से पोषक तत्व की मौजूदगी रहती हैं तो आइए हम आपको बताते हैं इनके बारे में विस्तार से बात करते हैं-

जो कॉर्नफ्लोर स्मूथ तथा सफेद सा होता है उसमें विटामिन ए, विटामिन बी, फाइबर, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जिंक, प्रोटीन, विटामिन ई, कार्बोहाइड्रेट और बहुत सारे पोषक तत्व की मौजूदगी रहती हैं। यह सारे जो भी पोषक तत्व होते हैं वो हमारे शरीर को स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अहम योगदान निभाते हैं।

Corn Flour के उपयोग करने का तरीका

कॉर्नफ्लोर को ज्यादातर रसोई में उपयोग करते हैं। लेकिन Corn Flour में कुछ ऐसे भी तत्व की मौजूदगी रहती हैं जिस वजह से कुछ बीमारियों का इलाज भी किया जा सकता है। तो आइए बताते हैं आपको कि कॉर्नफ्लोर का किस तरह से उपयोग में लाया जा सकता है, और हम इसका किस किस तरह से अपने फायदे के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

– अगर आपने कोफ्ता, कटलेट जैसी तेलय पदार्थ की चीज बनाते हो तो इसको बनाने के लिए आपको Corn Flour घोल को बनाकर बांधने के लिए आवश्यक पड़ती है।

– कभी कभी Corn Flour को चीनी में एंटीकेकिंग एजेंट की तरह प्रयोग करते हैं। जिस कारण से हम अरारोट की जगह पर इस्तेमाल में लाते हैं।

– बहुत बार ऐसा हो जाता है कि दूध बहुत पतला होता है, जिस कारण से हम उसे अपने मनचाहे तरीके से उपयोग में नहीं ला पाते हैं। अगर उस पतले से दूध में थोड़ा सा (CornFlour) का घोल उस समय मिला दें तो दूध इससे गाढ़ा बन जाता है। इस तरह से आप आइसक्रीम जैसी बहुत सारी स्वादिष्ट चीजें घर पर बनाया जा सकता हैं|

Corn Flour को घर पर रखने का तरीका

Corn Flour

यह बात हमेशा ध्यान रखा जाना चाहिए कि कॉर्न फ्लोर को एयर टाइट वाले कंटेनर में ही भर कर अच्छे से रखना चाहिए। उस डिब्बे में किसी भी तरह की छेद ना हो जिससे उसमे हवा का प्रवेश होने पर नमी पहुंचे। अगर गलती से भी कॉर्न फ्लोर को थोड़ी भी नमी लग जाती है तो यह खराब हो जाएगा।

जब भी आप कभी उपयोग करती हैं तो आप हमेशा साफ सफाई का बेहद ध्यान रखना पड़ता है। जब कभी भी डिब्बे या कंटेनर को खोला जाए तो हाथ बिल्कुल साफ और सूखा होना चाहिए। और अगर आप इसे निकालना हो तो हमेशा सूखी चम्मच का उपयोग करें।

खरीदते समय रखे इन बातों का ध्यान

वैसे तो ऊपर में आपको कॉर्न फ्लोर घर पर बनाने की पूर्ण विधि बता दी है परन्तु फिर भी अगर आप इसको बाजार से खरीदना चाहते हो तो कुछ बात का बेहद ख्याल रखें कि आपको कॉर्न फ्लोर लेते समय कुछ सावधानियां समझनी होंगी। ऐसा कहने का कारण है क्योंकि बाजारों में कॉर्नफ्लोर के नाम पर और भी वस्तुओं को महीन पीसकर लोगों को बेच दिया जाता है जबकि वह कॉर्न फ्लोर बिल्कुल नहीं होता है। जिस कारण आप कभी भी खरीदते हो तो हमेशा विश्वसनीय ब्रांड का ही गुणवत्ता युक्त प्रोडक्ट खरीदें।

Corn Flour से स्वास्थ्य को होने वाले फायदे

– अगर हम कॉर्न फ्लोर का उपयोग करते हैं तो हमारे शरीर में अगर सूजन है तो वह कम हो सकती है। यह हमारे शरीर किसी भी हिस्से में सूजन हो तो उसे समाप्त कर देता है।

– यह हमारे आंतों को लाभ मिलता है। अगर हमारी आंतों में कोई भी समस्या होती है तो इसका निवारण Corn Flour है।

– इसका सेवन करने से वजन भी बढ़ता है। अगर आप इसका प्रयोग करते हैं तो आपके शरीर का वजन बढ़ने लगता है। और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट और कैलरी की अधिक मात्रा में मौजूद रहती है।

– अगर आप कभी त्वचा के समस्या से जूझ रहे है या फिर आप त्वचा संबंधित रोग से ग्रसित हैं तो Corn Flour आपको समाधान दिलवा सकता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन ए और विटामिन ई की मौजूदगी रहती हैं जिस वजह से त्वचा संबंधित रोग समाप्त हो जाते हैं।

– इसका प्रयोग करने से हमारा कोलेस्ट्रॉल भी काबू में रहता है। क्योंकि Corn Flour में फाइबर की मौजूदगी रहती हैं जिस वजह से हमारा कोलेस्ट्रॉल सही रहता है।

अमर

Leave a Comment